Menu
Your Cart

The Fifth Agreement- Aazadi Paane ka Panchva Samjouta (Hindi)

The Fifth Agreement- Aazadi Paane ka Panchva Samjouta (Hindi)
New Hot -10 %
The Fifth Agreement- Aazadi Paane ka Panchva Samjouta (Hindi)
Day
Hour
Min
Sec
Rs202.50
Rs225.00
Ex Tax: Rs202.50
  • Availability: In Stock
  • Product Code: HB9789387696488
  • Weight: 0.17kg
  • Dimensions (L x W x H): 0.50in x 5.10in x 7.90in
  • ISBN: 9789387696488

पाँचवाँ समझौता

अपनी पिछली पुस्तक ‘द फोर एग्रीमेंट्स’ में डॉन मिगेल रूईज़ ने इस बात का खुलासा किया था कि कैसे हम अपनी शिक्षा और डोमेस्टिकेशन (पालतू - जंगल की बजाय घर बनाकर रहना) के कारण अपनी प्रज्ञा को भूल जाते हैं। अपने जीवन में हम न जाने कितने ऐसे समझौते कर लेते हैं, जो हमारे खिलाफ चले जाते हैं और उनके कारण हम अनावश्यक पीड़ा भोगते हैं। ‘द फोर एग्रीमेंट्स’ न सिर्फ उन समझौतों को तोड़ने में हमारी मदद करती है जो हमें एक सीमित दायरे में बाँध देते हैं बल्कि उनकी जगह ऐसे समझौतों को हमारे जीवन में लेकर भी आती है, जो हमें निजी स्वतंत्रता, खुशी और प्रेम के रास्ते पर ले जाते हैं।

अब डॉन मिगेल रूईज़ और उनके बेटे डॉन जोस रूईज़ एक साथ मिलकर ‘द फोर एग्रीमेंट्स’ पर एक नया द़ृष्टिकोण देने और आपके जीवन को निजी स्वर्ग में तब्दील करने के लिए एक नया समझौता लेकर आए हैं, जो पाँचवाँ समझौता है। ‘द फिथ एग्रीमेंट’ नामक यह किताब हमें सेल्फ की शक्ति के प्रति जाग्रति के गहरे आयाम तक ले जाती है और उस मूल अवस्था में वापस ले जाती है, जिसके साथ हमने जन्म लिया था। संसार के लाखों लोगों का जीवन बदलनेवाली पुस्तक की इस अगली कड़ी में हमें एक ऐसे महानतम उपहार की याद दिलाई गई है, जो हम स्वयं को दे सकते हैं। वह उपहार है, अपने सच्चे रूप में रहने की स्वतंत्रता यानी हम जो वास्तव में हैं, वह बनकर जीने की स्वतंत्रता।

In The Four Agreements, don Miguel Ruiz revealed how the process of our education, or “domestication,” can make us forget the wisdom we were born with. Throughout our lives, we make many agreements that go against ourselves and create needless suffering. The Four Agreements help us to break these self-limiting agreements and replace them with agreements that bring us personal freedom, happiness and love. Now don Miguel Ruiz joins his son don Jose Ruiz to offer a fresh perspective on The Four Agreements and a powerful new agreement for transforming our lives into our personal heaven: the fifth agreement. The Fifth Agreement takes us to a deeper level of awareness of the power of the Self and returns us to the authenticity we were born with...

Books
AuthorDon Miguel Ruiz
BindingPaperback
ISBN 139789387696488
Languagehindi
No of Pages192
Publication Year2018
Titleद फिफ्थ एग्रीमेंट - आज़ादी पाने का पाँचवाँ समझौता

Write a review

Note: HTML is not translated!
Bad Good
Captcha